Loading

B.Com.

PCGE में BCom का पाठ्यक्रम BCom की डिग्री प्राप्त करने के उद्देश्य से तो पढ़ाया ही जाता है साथ ही विद्यार्थी को आगे स्नातकोत्तर (MCom, MBA आदि) पाठ्यक्रमों में प्रवेश लेने के लिए तथा Jobs प्राप्त करने की योग्यता विकसित करने के साथ तैयार किया जाता है। यह पाठ्यक्रम त्रि-आयामी है—

  • प्रथमत:, PCGE में BCom की कक्षाएँ विश्वविद्यालय परीक्षाओं में उत्कृष्ट अंक प्राप्त करने और शानदार शैक्षिक कॅरिअर बनाने के उद्देश्य से आयोजित की जाती हैं।
  • द्वितीय, PCGE में BCom के विद्यार्थियों को डिग्री कोर्स के साथ वाणिज्य से जुड़े कोर्स विशेषत: CA, CS, CMA Foundation, Tally, GST आदि के लिए भी तैयारी करवाई जाती है।
  • तृतीय आयाम है कि PCGE में BCom के विद्यार्थियों को IAS, RAS, SSC, IBPS और अन्य सरकारी नौकरियाँ की प्रतियोगिता परीक्षाओं के लिए भी तैयार करते हैं। विषय की कक्षाओं के साथ-साथ प्रतिदिन 2 घंटे की Competitions की Class भी होती है।

पात्रता (Eligibility)

10+2 परीक्षा [राजस्थान बोर्ड/अन्य राज्य बोर्ड/सीबीएसई (CBSE)/आईसीएसई (ICSE)] में न्यूनतम 45 प्रतिशत अंक प्रवेश के लिए आवश्यक हैं। यदि राजस्थान से बाहर का विद्यार्थी प्रवेश लेता है तो 55 प्रतिशत पर प्रवेश ले सकता है। शर्त यह है कि उसका जन्म राजस्थान में हुआ हो (प्रमाण सहित) व उसके माता-पिता यहाँ 5 वर्ष से रह रहे हों।

प्रवेश प्रक्रिया (Admission Process)

छात्र-छात्राओं की स्क्रीनिंग 10+2 स्तर पर प्राप्त अंकों के आधार पर की जाती है और योग्यता के आधार पर प्रवेश दिया जाता है।

वैकल्पिक विषय (Optional Subjects)

  • Accountancy and Business Statistics (ABST)
  • Economic Administration and Financial Management (EAFM)
  • Business Administration (B.Admn.)

विद्यार्थी को ये तीनों विषय BCom के लिए लेने होते हैं।

अनिवार्य विषय (Compulsary Subjects)

  • सामान्य हिंदी (General Hindi)
  • सामान्य अंग्रेजी (General English)
  • प्रारंभिक कंप्यूटर (Elementary Computer)
  • पर्यावरण अध्ययन (Environmental Studies)

शिक्षण विधि (Teaching Method)

  • PCGE ने BCom में अनूठे ढंग से सीखने-सिखाने की प्रक्रिया विकसित की है। व्याख्यान देने और छात्रों को निष्क्रिय (Passive) श्रोता बनाने के बजाय, PCGE शिक्षकों द्वारा इंटरेक्टिव कक्षाएँ एवं छात्र-केंद्रित शिक्षण-पद्धति का प्रयोग किया जाता है।

पढ़ाने के तरीके : (Methods of Teaching)

PCGE ने BCom के पाठ्यक्रम में पढ़ने-पढ़ाने का एक विशिष्ट तरीका इजाद किया है। कक्षा में केवल व्याख्यान देकर विद्यार्थियों को निष्क्रिय श्रोता बनाने के स्थान पर परिष्कार के शिक्षकों द्वारा विद्यार्थी-केंद्रित शिक्षण-प्रणाली को अपनाकर विद्यार्थियों को सतत रूप से सक्रिय बनाने का प्रयास किया जाता है। विद्यार्थियों के लिए अनेक तरह से सक्रिय विभिन्न प्रकार की गतिविधियाँ करवाई जाती हैं—

  • वाक्य में बीज शब्द (Key words) को ढूँढ़ना।
  • अनुच्छेद (Paragraph) में मूल विचार को ढूँढ़ना।
  • विद्यार्थियों को Study sheet द्वारा स्वयं को पाठ में से वस्तुनिष्ठ प्रश्नों को हल करने के लिए प्रेरित करना।
  • पाठ की अवधारणाओं (Concepts) का मूल्यांकन करवाना।
  • विद्यार्थियों को कक्षा में प्रस्तुतीकरण (Presentation) देने के लिए प्रोत्साहित करना।
  • IAS, RAS जैसी-परीक्षाओं की मुख्य परीक्षाओं तथा साक्षात्कार के लिए विद्यार्थियों में विश्लेषणात्मक सोच विकसित करने के लिए, संवादात्मक कक्षाओं, समूह-चर्चाओं, ओपन हाउस चर्चाओं, वाद-विवाद प्रतियोगिताओं और विश्लेषणात्मक और रचनात्मक उत्तर लेखन पर विशेष बल दिया जाता है।
  • विद्‌यार्थियों को ऑनलाइन क्लासेज़ भी अतिरिक्त रूप से उपलब्ध करवाई जा रही हैं ताकि कोरोना, अन्य बीमारी या किसी अन्य व्यक्तिगत कारण से विद्‌यार्थी कॉलेज नहीं आ पाता है तो भी वह घर बैठे अपने एंड्रोइड मोबाइल पर परिष्कार के शिक्षकों द्‌वारा तैयार किए क्वालिटी लेक्चर्स को देख सके और अपनी पढ़ाई जारी रख सके।
  • Study Sheets से जाँचना, सरप्राइज टैस्ट, मिड-टर्म टैस्ट तथा प्री-यूनिवर्सिटी परीक्षा के द्वारा विद्यार्थी अपनी खूबियाँ एवं कमियाँ जानकर उन्हें दूर करते जाते हैं।
  • हमारा विश्वास है कि जब शिक्षण, अध्ययन और मूल्यांकन की प्रक्रियाएँ साथ-साथ चलती हैं तभी शिक्षा प्रभावी, रचनात्मक और उल्लसित करनेवाली होती हैं। अत: प्रत्येक दिन अनौपचारिक तरीके से विद्यार्थियों का आकलन करना और हर दो सप्ताह में OMR परीक्षा से जाँच करना विद्यार्थियों को सीखने में सक्रिय रखता है।

विश्वविद्यालय के उत्कृष्ट परिणाम

  • हमारे BCom के छात्रों ने राजस्थान विश्वविद्यालय में Top करने जैसे उत्कृष्ट परिणामों के माध्यम से हमें गौरवान्वित किया है। ऐसे अद्भुत परीक्षा-परिणाम अन्यत्र दुर्लभ हैं।
  • हमारे छात्रों ने ABST में 98% अंक, EAFM में 91% अंक और BADM में 82% अंक तक हासिल किए हैं।

Rank holders in University of Rajasthan exams

Name

Session

(%)

Class

Rank

Dinesh Choudhary

2016

79%

BCom-III

I

Dinesh Choudhary

2015

84.5%

BCom-II

I

Urvashi Ferwarni

2011

77.17%

BCom-I

VIII

BCom के बाद उच्च अध्ययन (Higher Studies after BCom)

MCom

  • BCom डिग्री के बाद उच्चतर शिक्षा स्नातकोत्तर MCom है। ABST, EAFM, B.Admn. में से किसी एक विशेष में मास्टर्स की डिग्री और उसके बाद NET एवं D की उपाधि, कॉलेज व्याख्याता आदि क्षेत्रों में रोजगार के उत्कृष्ट अवसरों के लिए दरवाजे़ खोल सकती है।

MBA

  • यह वाणिज्य स्नातकों के लिए अच्छा कॅरिअर विकल्प है। एचआर (HR), मार्केटिंग, फाइनेंस, बैंकिग इत्यादि के साथ MBA डिग्री BCom स्नातकों के लिए मजबूत विकल्प है। PCGE छात्रों को CAT (MBA के लिए प्रवेश परीक्षा) के लिए विशेष तैयार करता है।

MCA(कंप्यूटर एप्लीकेशन के मास्टर)

  • IT का MCA पाठ्यक्रम BCom डिग्री धारकों के लिए उपलब्ध विकल्पों में से एक आकर्षक विकल्प है। MCA उन छात्रों के लिए एक आदर्श शैक्षिक कार्यक्रम है जो इस IT के क्षेत्र में अपने उच्च अध्ययन कर अपना कॅरिअर बनाना चाहते हैं।

तकनीकी अल्पकालिक पाठ्यक्रम

  • BCom के छात्र SAP, JAVA, SQL, .NET, Financial Accounting Tally एवं GST पर विशेष कोर्स या PGDM और अन्य अल्पकालिक पाठ्यक्रम ले सकते हैं। ये पाठ्यक्रम उनमें आवश्यक कौशल विकसित कर उन्हें अच्छा जॉब दिलाते हैं।

BEd शिक्षा के स्नातक

  • छात्र BCom या MCom करके फिर BEd कर सकते हैं तथा विद्यालय शिक्षा में वाणिज्य विषय में व्याख्याता बन सकते हैं।

BCom छात्रों के लिए कॅरिअर

  • Charted Accountant (CA) चार्टेड अकाउंटेंट के रूप में कॅरिअर (Foundation पाठ्यक्रम की तैयारी)
  • कंपनी सचिव (CS) के रूप में कॅरिअर (Foundation पाठ्यक्रम की तैयारी)
  • ICWA के रूप में कॅरिअर (Foundation पाठ्यक्रम की तैयारी)
  • Bank PO
  • बैंक क्लर्क
  • रेलवे
  • बीमा क्षेत्र
  • SSC (आयकर निरीक्षक, कस्टम अधिकारी, उत्पाद शुल्क अधिकारी, सीबीआई इत्यादि)
  • सांख्यिकीय अधिकारी
  • सांख्यिकीय जाँचकर्त्ता
  • भारतीय खाद्य निगम FCI
  • लेखाकार, LDC
  • पुलिस सब-इंस्पेक्टर आदि

 नियुक्तियाँ (Placements)

  • BCom के छात्र न केवल अच्छे अंक प्राप्त करते हैं बल्कि विभिन्न प्रतियोगिताओं को Crack कर नौकरियाँ हासिल कर चुके हैं।
  • PCGE में विद्यार्थियों के Placement हेतु नियमित प्रशिक्षण और नियुक्ति से संबंधित गतिविधियाँ आयोजित की जाती हैं जो छात्रों को विभिन्न क्षेत्रों में अपना भविष्य बनाने में मदद करती हैं।
  • PCGE के कई छात्र-छात्राएँ RAS, RPS, RCS, पुलिस सब-इंस्पेक्टर, कॉलेज एवं स्कूल व्याख्याता, लेखाकार, क्लर्क इत्यादि के रूप में कार्यरत हैं।
  • यहाँ के अनेक विद्यार्थी CA, ICWA, CS, Bank, Deutsche Bank, ICICI, SBI, Axis, IDBI, AU Finance आदि बैंकों में Bank PO, Bank Manager, Bank Clerk आदि के रूप में कार्यरत हैं।
  • इसके अतिरिक्त BCom के हमारे अनेक विद्यार्थी Infosys, Genpact, TCS, OPPO, Vodafone आदि निजी क्षेत्र की कंपनियों में कार्यरत हैं।

शोध (Research)

  • PCGE BCom विद्यार्थियों को शोध के अवसर भी प्रदान करता है जिसमें स्नातक (Graduation) स्तर पर अनुसंधान की छोटी-छोटी परियोजनाओं, विशेष तौर पर सामाजिक, आर्थिक समस्याओं पर केस स्टडी पर शोधकार्य करवाया जाता है। इससे छात्रों में अनुसंधान का दृष्टिकोण विकसित होता है और वे जीवन के अनछुए नए-नए क्षेत्रों में उद्यम करने में सक्षम बनते हैं। इससे छात्रों के समस्या-समाधान कौशल का विकास होता है।